Sold out!

श्रौतयज्ञ-मीमांसा

150.00

(संस्कृत – हिन्दी ) – लेखक – पं० युधिष्ठिर मीमांसक, इसमें श्रौतयज्ञों की उत्पत्ति, प्रयोजन, उनमें परिवर्तन तथा पशुयज्ञों पर विस्तार से विवेचना की गई है। अप्राप्य

Sold out!